Mobile Se Khatauni Kaise Nikale: भूलेख खसरा खतौनी मोबाइल से निकालें सिर्फ 1 मिनट में

आर्टिकल शेयर करें

Mobile Se Khatauni Kaise Nikale: हम सभी को विभिन्न सरकारी एवं गैर-सरकारी काम करने के लिए कई बार अपने जमीन के रिकॉर्ड अथवा खसरा खतौनी की जरूरत पड़ती है और इसे देखने के लिए तहसील या किसी Common Service Center के चक्कर लगाने पड़ते हैं लेकिन अब आपको खसरा खतौनी देखने के लिए ऐसा करने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि आज हम आपको मोबाइल से खतौनी कैसे निकालें? इस विषय में जानकारी देने जा रहे हैं।

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका एक और नए लेख में जहाँ हम आज ई-गवर्नेंस से जुड़े ही एक महत्वपूर्ण विषय में यहाँ चर्चा करने जा रहे हैं। सरकारों द्वारा विभिन्न सरकारी सेवाओं को डिजिटल किये जाने के संबंध में हम समय-समय पर चर्चा करते रहते हैं इन्हीं में एक भूलेख रिकॉर्ड का डिजिटल किया जाना भी है, जिसके बारे में आज इस लेख में बताने जा रहे हैं साथ ही आपको यह भी बताएंगे कि कैसे आप अपने मोबाइल से 1 मिनट में अपने जमीन के रिकॉर्ड को देख और उसे डाउनलोड कर सकते हैं।

Khatauni Kya hai?

जमीन से जुड़े मामलों में अक्सर आपने खतौनी, खसरा संख्या जैसे नामों को सुना होगा, खतौनी एक प्रकार का कानूनी दस्तावेज होता है, जिसके माध्यम से किसी जमीन खासकर ग्रामीण क्षेत्रों की कृषि योग्य जमीन के स्वामित्व के पैटर्न बारे में जानकारी मिलती है। खतौनी के माध्यम से किसी जमीन का कुल क्षेत्रफल, समय के साथ उसके मालिकों की संख्या, खतौनी के खसरों की संख्या जैसी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता चलता है। ये कानूनी दस्तावेज प्रदेश के राजस्व विभाग के पास मौजूद रहते हैं जहाँ से इन्हें देखा एवं प्राप्त किया जा सकता है।

खसरा नंबर क्या होता है?

भू-लेख के संबंध में आपने खतौनी के साथ-साथ खसरा नंबर के बारे में भी सुना होगा आइए जानते हैं यह क्या होता है, जहाँ खतौनी किसी व्यक्ति या परिवार के स्वामित्व वाली सम्पूर्ण भूमि के बारे में जानकारी देती है वहीं खसरा भूमि के एक टुकड़े की जानकारी देता है। गौरतलब है कि, खसरा संख्या के माध्यम से ही किसी भूमि के हिस्से की पहचान करी जाती है। अलग-अलग बहुत से खसराओं के विवरण से किसी व्यक्ति या परिवार की खतौनी बनती है।

Mobile Se Khatauni Kaise Nikale?

आजकल लगभग सभी प्रकार के सरकारी कामकाज जैसे किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने में, किसी सरकारी योजना जैसे किसान सम्मान निधि का लाभ लेने आदि में भूलेख यानी भूमि के रिकॉर्ड की आवश्यकता पड़ती है और इसके लिए राजस्व विभाग के दफ्तर जाकर अपनी जमीन का रिकॉर्ड प्राप्त करना होता है जो एक समय और पैसा खर्चने वाला काम है, लेकिन अब आपको इस काम के लिए कहीं भी जाने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें:

आज हम आपको मोबाइल से खसरा खतौनी निकालने का आसान तरीका बताने जा रहे हैं, चूँकि अब तकरीबन सभी राज्य सरकारों ने अपने नागरिकों के लिए उनके भू-लेखों को डिजिटल रूप से प्राप्त करने का विकल्प मुहैया करवा दिया है अतः कोई भी व्यक्ति इंटरनेट की सहायता से इन रिकॉर्डों को कभी भी देख सकता है या जरूरत पड़ने पर डाउनलोड कर प्रिन्ट भी करवा सकता है।

मोबाइल से अपना खसरा खतौनी निकालने के सबसे पहले आपको अपने राज्य के भूलेख पोर्टल पर जाना होगा, यहाँ हमनें नीचे विभिन्न राज्यों के भूलेख पोर्टल की लिंक साझा करी है, जिनमें से आप अपने राज्य के आगे दी गई लिंक पर क्लिक कर अपने राज्य के भूलेख पोर्टल का चुनाव कर सकते हैं-

राज्य का नामखतौनी के लिए लिंक
आंध्र प्रदेशयहाँ क्लिक करें
उत्तर प्रदेश यहाँ क्लिक करें
छत्तीसगढ़यहाँ क्लिक करें
असमयहाँ क्लिक करें
बिहारयहाँ क्लिक करें
दिल्लीयहाँ क्लिक करें
गुजरातयहाँ क्लिक करें
गोवायहाँ क्लिक करें
हरियाणायहाँ क्लक करें
हिमाचल प्रदेशयहाँ क्लिक करें
झारखंडयहाँ क्लिक करें
केरलयहाँ क्लिक करें
कर्नाटकयहाँ क्लिक करें
महाराष्ट्रयहाँ क्लिक करें
मध्य प्रदेशयहाँ क्लिक करें
मणिपुरयहाँ क्लिक करें
उड़ीसायहाँ क्लिक करें
पंजाबयहाँ क्लिक करें
राजस्थानयहाँ क्लिक करें
तमिल नाडूयहाँ क्लिक करें
तेलंगानायहाँ क्लिक करें
उत्तराखंडयहाँ क्लिक करें
पश्चिम बंगालयहाँ क्लिक करें

हमारे इस लेख में हम Uttar Pradesh Bhulekh का उदाहरण देते हुए मोबाइल से खसरा खतौनी निकालने के बारे में आपको समझा रहे हैं, लगभग सभी राज्यों के लिए आपको इसी प्रक्रिया से गुजरना पड़ेगा।

Uttar Pradesh Bhulekh कैसे देखें?

Step 1- Uttar Pradesh खसरा खतौनी देखने के लिए आपको सबसे पहले Uttar Pradesh Bhulekh की ऑफिशियल वेबसाइट https://upbhulekh.gov.in पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपके सामने एक डैशबोर्ड खुलेगा, यहाँ आपको नीचे चित्र में दिखाए अनुसार विभिन्न विकल्प दिखाई देंगे जिनमें से आपको “खतौनी की नकल देखें” वाले ऑप्शन का चुनाव करना होगा। आप यहाँ से अपनी जरूरत के अनुसार किसी अन्य विकल्प का चयन भी कर सकते हैं

Mobile Se Khatauni Kaise Nikale

Step 2- इसके बाद आपकी मोबाइल स्क्रीन पर अपने जनपद का चुनाव करने का विकल्प दिखाई देगा, अपना जनपद चुनने के बाद अपनी तहसील और इसके बाद अपने गाँव का चयन करें। अब अगली विंडो में आपको अपनी खसरा खतौनी देखने के लिए चार अलग-अलग विकल्प दिए जाएंगे इनमें निम्नलिखित शामिल हैं-

  • खसरा/गाटा संख्या द्वारा खोजें,
  • खाता संख्या द्वारा खोजें
  • खातेदार के नाम द्वारा खोजें
  • नामांतरण दिनांक से खोजें
Mobile Se Khatauni Kaise Nikale

आप इन चारों में से किसी भी तरीके से अपनी जमीन के रिकॉर्ड को खोज सकते हैं और उसे डाउनलोड कर सकते हैं, यदि आपको किसी दस्तावेज में भौतिक रूप से संगलग्न करने के लिए अपनी खसरा खतौनी की जरूरत है तो आप इसे प्रिन्ट करवा कर इस्तेमाल कर सकते हैं।

खसरा खतौनी का क्या इस्तेमाल है?

जैसा कि, हमनें पूर्व में भी बताया खसरा खतौनी ग्रामीण क्षेत्रों में किसी परिवार अथवा व्यक्ति के जमीन का सरकारी रिकॉर्ड होता है अतः ऐसे सभी सरकारी कार्य जहाँ भी किसी व्यक्ति को अपने भू-दस्तावेजों या जमीन के स्वामित्व के बारे में जानकारी देनी होती है वहाँ उसे खतौनी की आवश्यकता पड़ती है। इसके कुछ मुख्य उदाहरण निम्नलिखित हैं

  • किसी व्यक्ति से जमीन खरीदने में
  • अपनी जमीन को बेचने में
  • बैंक या सहकारी समिति से किसी प्रकार का ऋण लेने में
  • किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने में
  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ लेने में
  • किसानों के लिए बनाई गई विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने में

मोबाइल से खसरा खतौनी निकालने से जुड़े अपने इस लेख में हमनें इस प्रक्रिया को step-by-step समझाया है, आपको हमारा लेख कैसा लगा इस पर अपनी राय आप कमेन्ट कर हमें दे सकते हैं, इसके साथ ही यदि आप विभिन्न सरकारी सेवाओं, योजनाओं, विज्ञान एवं तकनीकी तथा फाइनेंस जैसे विषयों से जुड़े लेख पढ़ते रहना चाहते हैं तो हमें फॉलो करना न भूलें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *