Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana: सरकार की इस स्कीम में लगाएं पैसा और पाएं ₹9,000 से अधिक की मासिक पेंशन

हर कोई व्यक्ति अपने रिटायरमेंट के बाद आर्थिक रूप से सुरक्षित और खुशहाल जीवन की कामना करता है और इसी उद्देश्य से बाजार में मौजूद अलग-अलग प्लान में निवेश करता है। इनमें कुछ अधिक जोखिम भरे होते हैं तथा रिटर्न भी उसी दर से देते हैं जबकि कुछ तरीके जोखिम से तो मुक्त होते हैं किन्तु उनसे मिलने वाला रिटर्न भी कुछ खास नहीं होता। चूँकि जैसे-जैसे किसी व्यक्ति की उम्र बढ़ती है आर्थिक रूप से जोखिम उठाने की उसकी क्षमता भी कम होते जाती है।

अतः जोखिम मुक्त और अच्छे रिटर्न को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने सीनियर सिटीजन के लिए एक महत्वपूर्ण पेंशन योजना की शुरुआत करी है, जिसमें आप रिटायरमेंट के बाद ₹9,000 से अधिक मासिक पेंशन प्राप्त कर सकते हैं, जबकि आपकी निवेश की गई धनराशि भी आपको निर्धारित समय सीमा के पश्चात वापस लौटा दी जाती है।

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना

जिस योजना की हम यहाँ चर्चा कर रहे हैं उसका नाम प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) है, यह केंद्र सरकार की योजना है हालाँकि इसे LIC द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है। वय वंदन योजना के नए संस्करण की शुरुआत सरकार ने मई 2020 में करी थी और इसमें मार्च 2023 तक निवेश किया जा सकता है।

योजना को एकमुश्त खरीद मूल्य का भुगतान करके खरीदा जा सकता है। पेंशनभोगी के पास या तो पेंशन की राशि या खरीद मूल्य को चुनने का विकल्प होता है। पेंशन की अवधि जो कि मासिक, त्रिमासिक, अर्द्धवार्षिक और वार्षिक है के आधार पर खरीद मूल्य का निर्धारण किया जाता है। विभिन्न पेंशन अवधि के अनुसार न्यूनतम एवं अधिकतम खरीद मूल्य को नीचे दिखाया गया है।

पेंशन की अवधिन्यूनतम खरीद मूल्यअधिकतम खरीद मूल्य
वार्षिक1,56,658/-14,49,086/-
अर्ध-वार्षिक1,59,574/-14,76,064/-
त्रिमासिक 1,61,074/-14,89,933/-
मासिक1,62,162/-15,00,000/-

कैसे मिलेगी 9,250 की पेंशन?

जैसा कि, हमनें पूर्व में बताया प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) केवल सीनियर सिटीजन के लिए है, योजना के अंतर्गत 1,000 रुपये मासिक से लेकर 9,250 मासिक पेंशन तक के विकल्प उपलब्ध हैं। 9,250 रुपये मासिक पेंशन प्राप्त करने के लिए आपको 15 लाख रुपये का निवेश करना होगा, जिस पर आपको 7.40% का वार्षिक ब्याज दिया जाएगा।

आपके निवेश के अनुसार आपका वार्षिक ब्याज तय होगा और उसी ब्याज से आपको मासिक पेंशन दी जाएगी। उदाहरण के लिए यदि आप योजना में 15 लाख का निवेश करते हैं तो आपको 7.40% के अनुसार सालाना 1 लाख 11 हजार का ब्याज मिलेगा। इस ब्याज को यदि 12 से विभाजित कर दें तो आप अपनी मासिक पेंशन जो कि, तकरीबन 9,250 होगी प्राप्त कर सकेंगे।

इसके अलावा यदि आप पेंशन चक्र (Cycle) मासिक से वार्षिक की तरफ शिफ्ट करते हैं तो आपको मिलने वाला ब्याज भी बढ़ता जाता है, उदाहरण के तौर पर 15 लाख के निवेश पर यदि आप वार्षिक पेंशन का चुनाव करते हैं तो आपको 7.4% के बजाए 7.66% का ब्याज प्राप्त होगा। पेंशन की अवधि के अनुसार मिलने वाले ब्याज की दरें निम्नलिखित हैं।

पेंशन की अवधिमिलने वाला ब्याज
वार्षिक7.66%
अर्ध-वार्षिक7.52%
त्रिमासिक 7.45%
मासिक7.40%

इस तरह कर सकते हैं पेंशन को डबल

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) के तहत निवेश करने की अधिकतम धनराशि 15 लाख रुपये हैं हालाँकि इससे पूर्व तक यह केवल 7.5 लाख रुपये ही थी, जिसे केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में दोगुना किया गया है। हमनें ऊपर समझा आप 15 लाख के निवेश पर तकरीबन 9,250 की मासिक पेंशन पा सकते हैं लेकिन आप इसे दोगुना अर्थात 18,500 रुपये मासिक में भी बदल सकते हैं।

यदि पति-पत्नी दोनों मिलकर प्रधानमंत्री वय वंदन योजना में पैसे लगाते हैं तो दोनों को अलग-अलग 15 लाख का निवेश करना होगा, जो कुल 30 लाख हो जाएगा। इस स्थिति में निवेश पर मिलने वाला ब्याज भी 2 लाख 22 हजार हो जाएगा, जिससे एक परिवार 18,500 रुपये की गारंटीड मासिक पेंशन का लाभ ले सकेगा।

कब तक मिलेगी पेंशन?

इस योजना के अंतर्गत आपको निवेश के पश्चात 10 वर्षों तक पेंशन प्राप्त होगी और 10 वर्ष की अवधि समाप्त हो जाने के पश्चात आपको आपके द्वारा निवेश की गई सम्पूर्ण धनराशि वापस लौटा दी जाएगी। इसके अतिरिक्त यदि पॉलिसी अवधि के दौरान पेंशनधारी के साथ कोई अनहोनी हो जाए और उसकी मृत्यु हो घटित हो जाए तो नॉमिनी को खरीद मूल्य वापस कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि, Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana कुछ असाधारण परिस्थितियों जैस पेंशनधारी को स्वयं या जीवनसाथी की किसी गंभीर बीमारी के उपचार हेतु धन की आवश्यकता पड़ने पर पॉलिसी से परिपक्वता अर्थात 10 वर्ष की अवधि से पहले ही बाहर निकलने (Premature Surrender) की सुविधा देती है। ऐसी स्थिति में कुल निवेश की गई राशि का 98% पेंशनधारी को लौटाया जाता है।

30 दिनों के भीतर पॉलिसी वापस करने की सुविधा

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) का एक सबसे महत्वपूर्ण लाभ Free look Period है, जिसमें आपको पॉलिसी खरीदने के बाद अधिकतम 30 दिनों का समय मिलता है और इस अवधि के दौरान आप पॉलिसी को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के रद्द करवा सकते हैं।

पेंशनभोगी द्वारा पॉलिसी दस्तावेज प्राप्त होने की तिथि से 30 दिनों की फ्री लुक अवधि (15 दिन यदि यह पॉलिसी ऑफलाइन खरीदी गई हो) के दौरान, यदि पेंशनभोगी पॉलिसी के नियमों और शर्तों से संतुष्ट नहीं है, तो वह आपत्तियों का कारण बताते हुए पॉलिसी को वापस लौटा भी सकते हैं। ऐसी आपत्ति प्राप्त होने पर LIC द्वारा आपकी पॉलिसी को रद्द कर दिया जाएगा और उसके द्वारा भुगतान की गई स्टाम्प ड्यूटी या पेंशन (यदि कोई हो) काटकर बकाया आपको लौटा दिया जाएगा।

पॉलिसी पर लोन लेने की सुविधा

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना के तहत इस पॉलिसी पर आप किसी वित्तीय संकट की स्थिति में लोन भी ले सकते हैं। पॉलिसी के प्रारंभ होने की तिथि से तीन पॉलिसी वर्ष पूरे होने के बाद ही आपको पॉलिसी ऋण उपलब्ध हो सकेगा। पॉलिसी के तहत उपलब्ध ऋण की अधिकतम राशि खरीद मूल्य का 75% होगी।

ऐसे करें निवेश

प्रधानमंत्री वय वंदन योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) के अंतर्गत निवेश करने के लिए आपके पास ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनों विकल्प मौजूद हैं। ऑनलाइन पॉलिसी खरीदने के लिए आपको LIC की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा जहाँ आप पॉलिसी के बारें में विस्तार से पढ़ सकते हैं, जबकि ऑफलाइन माध्यम से खरीदने के लिए आप नजदीकी LIC ऑफिस या किसी ऑफिशियल एजेंट से संपर्क कर सकते हैं।

Recent Articles

ADVERTISEMENT

Also Read This

error: Content is protected !!