Nobel Prize Winners of 2020 – in Hindi | नोबेल पुरस्कार 2020

नमस्कार दोस्तो! स्वागत है आपका जानकारी ज़ोन में जहाँ हम विज्ञान, प्रौद्योगिकी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय राजनीति, अर्थव्यवस्था, ऑनलाइन कमाई तथा यात्रा एवं पर्यटन जैसे क्षेत्रों से महत्वपूर्ण एवं रोचक जानकारी आप तक लेकर आते हैं। नोबेल पुरस्कारों से संबंधित अपने पहले लेख में हमनें अल्फ्रेड नोबेल की जीवनी तथा नोबेल पुरस्कार दिए जाने के पीछे के कारण को समझा था। लेख के इस भाग में हम नोबेल पुरस्कार से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य तथा साल 2020 के नोबेल पुरस्कार विजेताओं एवं उनके कार्यों के बारे में जानेंगे। (Nobel Prize Winners of 2020 – in Hindi)

नोबेल पुरस्कार

नोबेल पुरस्कार दुनियाँ का सबसे बड़ा पुरस्कार है। ये पुरस्कार कुछ विशेष क्षेत्रों भौतिक, रसायन, चिकित्सा, अर्थशास्त्र, साहित्य एवं शांति में विशिष्ट कार्य करने वाले लोगों को दिया जाता है। पुरस्कार में एक स्वर्ण पदक, एक प्रमाण पत्र तथा 10 मिलियन स्वीडिश क्रोना प्रदान किये जाते हैं। बता दें नोबेल पुरस्कार महान वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में दिया जाता है जिन्होंने अपनी सम्पूर्ण संपत्ति से एक ट्रस्ट का निर्माण किया तथा अपनी वसीयत में यह घोषणा की, कि उनकी मृत्यु के पश्चात प्रतिवर्ष उक्त क्षेत्रों में मानवता के लिए विशिष्ट कार्य करने वाले लोगों को पुरस्कृत किया जाए।

वसीयत के समय उनकी कुल संपत्ति 31 मिलियन स्वीडिश क्रोना थी जिसे ट्रस्ट द्वारा सुरक्षित प्रतिभूतियों में निवेश कर दिया गया। वर्तमान में इसकी कीमत 1702 मिलियन स्वीडिश क्रोना है।  इससे आने वाले ब्याज से ही प्रतिवर्ष यह पुरस्कार वितरित किए जाते हैं। अल्फ्रेड नोबेल ने अपने  जीवनकाल में कई अविष्कार किये जिनमें डायनामाइट सबसे प्रमुख अविष्कार था। 

विजेताओं का चयन

नोबेल विजेताओं के चयन की प्रक्रिया सितंबर माह से शुरू होती है। यह कार्य दो चरणों में किया जाता है। प्रथम चरण में विभिन्न क्षेत्रों की नोबेल समितियाँ कुछ अधिकृत लोगों से नोबेल पुरस्कार पाने योग्य व्यक्तियों के नामों का सुझाव माँगती हैं जिसकी आखरी तारीख 31 जनवरी होती है।

ये अधिकृत लोग विभिन्न क्षेत्रों जैसे भौतिकी, रसायन, चिकित्सा आदि के लिए अलग अलग हो सकते हैं। कुछ सामान्य अधिकृत लोगों की बात करें तो ये उक्त क्षेत्रों की नोबेल समितियों के सदस्य, उक्त क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कार प्राप्त कर चुके लोग, कोई अन्य वैज्ञानिक जिसे नोबेल सभा उचित समझती हो आदि हैं। अलग अलग क्षेत्रों से नाम प्राप्त हो जाने पर नोबेल समितियाँ प्राप्त नामों में से उनके कार्य के अनुसार एक अंतिम सूची तैयार करती हैं।

दूसरे चरण में यह अंतिम सूची विजेताओं का चयन करनें वाली संस्था को भेजी जाती है। ये संस्थाएं प्राप्त नामों में से बहुमत द्वारा विजेताओं का चयन करती हैं। अक्टूबर माह में इन नामों की घोषणा की जाती है एवं शांति पुरस्कार के अलावा 10 दिसंबर को स्टॉकहोम में ये पुरस्कार दिए जाते हैं। गौरतलब है की शांति का नोबेल पुरस्कार ओस्लो (नॉर्वे) में दिया जाता हैं।

विजेताओं को चुनने वाली संस्थाएं

विभिन्न क्षेत्रों की नोबेल समितियाँ अंतिम नामों की सिफारिश निम्नलिखित संस्थाओं को भेजती हैं तथा इन संस्थाओं द्वारा अंतिम रूप से विजेताओं का चयन किया जाता है।

  • भौतिकी – रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ़ साइंस
  • रसायन – रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ़ साइंस
  • चिकित्सा – The Nobel Assembly at Karolinska Institute
  • अर्थशास्त्र – रॉयल स्वीडिश अकेडमी ऑफ़ साइंस
  • साहित्य – स्वीडिश अकेडमी
  • शांति – नॉर्वेजियन नोबेल समिति (गौरतलब है कि  शांति के नोबेल पुरस्कार को इस क्षेत्र की नोबेल समिति द्वारा ही दिया जाता है।)

शांति का नोबेल

अन्य पुरस्कारों की तुलना में शांति का नोबेल पुरस्कार कई मायनों में भिन्न है। इसके विजेताओं का चयन नॉर्वेजियन नोबेल कमेटी करती है। कमेटी में पाँच सदस्य होते हैं जिनका चुनाव नॉर्वे की पार्लियामेंट द्वारा किया जाता है। अन्य नोबेल पुरस्कारों के विपरीत शांति का नोबेल पुरस्कार स्टॉकहोम (स्वीडन) के बजाए ओस्लो (नॉर्वे) में दिया जाता है। इसके अतिरिक्त जहाँ अन्य पुरस्कार केवल व्यक्तियों (अधिकतम तीन) को दिए जाते हैं वहीं शांति का नोबेल व्यक्तियों के अलावा संस्थाओं को भी दिया जाता है।

2020 के पुरस्कार विजेता

भौतिकी

Roger Penrose, Reinhard Genzel and Andrea Ghez are the recipients of the Nobel Prize in Physics for 2020.Credit...
रोजर पेनरोज़, रिनहार्ड गेन्ज़ेल तथा एंड्रिया गेज

भौतिकी के लिये साल 2020 में तीन लोगों को यह पुरस्कार प्रदान किया गया है। जिनमें ब्रिटिश वैज्ञानिक रोजर पेनरोज़, जर्मन वैज्ञानिक रिनहार्ड गेन्ज़ेल तथा अमेरिकी वैज्ञानिक एंड्रिया गेज शामिल हैं। गौरतलब है कि पुरस्कार का आधा हिस्सा रोजर पेनरोज़ तथा बाकी आधा अन्य दो में वितरित किया जाएगा। इनके कार्यों की बात करें तो रोज़र पेनरोज़ नें ब्लैक होल की खोज की जबकि अन्य दोनों ने हमारी आकाशगंगा के मध्य में एक अत्यंत भारी ऑब्जेक्ट के बारे में बताया।

रसायन विज्ञान

Emmanuelle Charpentier and Jennifer A. Doudna
इमैनुएल चारपेंटियर तथा जेनिफर डाडना
 

रसायन विज्ञान का नोबेल दो महिलाओं जिनमें फ्रांस की इमैनुएल चारपेंटियर तथा अमेरिका की जेनिफर डाडना शामिल हैं को दिया गया है। दोनों को जीनोम संशोधन पद्धति का विकास करने के लिए यह पुरस्कार दिया गया। इन दोनों ने CRISPR-Cas9 जिसे डीएनए कैंची कहा जाता है तकनीक को विकसित किया है।

चिकित्सा 

Harvey Alter, Michael Houghton and Charles Rice shared the 2020 Nobel Prize in Physiology or Medicine.
हार्वे आल्टर, माइकल हॉफटम तथा चार्ल्स एम. राइस

चिकित्सा का नोबेल तीन लोगों की दिया गया है जिनमें हार्वे आल्टर, माइकल हॉफटम तथा चार्ल्स एम. राइस शामिल हैं। इन तीनों ने सामुहिक रूप से हेपेटाइटिस सी विषाणु की खोज करी। गौरतलब है कि हेपेटाइटिस सी सिरोसिस तथा यकृत केंसर का कारण बनता है। नोबेल पुरस्कार देने वाली कमेटी के अनुसार इन वैज्ञानिकों की खोज ने लाखों लोगों की जान बचाई है 

अर्थशास्त्र 

Paul R. Milgrom and Robert B. Wilson
पॉल मिलग्रोम तथा रॉबर्ट विल्सन

अर्थशास्त्र का नोबेल जिसका आधिकारिक नाम “स्वीरिजेज रिक्सबैंक प्राइज इन इकोनॉमिक साइंसेज इन मेमोरी ऑफ़ अल्फ्रेड नोबेल” है दो अमेरिकी अर्थशास्त्रियों पॉल मिलग्रोम तथा रॉबर्ट विल्सन को दिया गया है। इन दोनों अर्थशास्त्रियों को यह पुरस्कार नीलामी सिद्धांत को बेहतर बनाने तथा नए नीलामी प्रारूपों के आविष्कार के चलते दिया गया है ताकि नीलामी की प्रक्रिया को आसान बनाया जा सके।

नीलामी की प्रक्रिया मुख्यतः तीन बातों नीलामी के नियमनीलाम होने वाली वस्तु एवं सेवा का प्रकार तथा अनिश्चितता पर निर्भर करती है। बोली लगाने वाला व्यक्ति इन्हीं तीनों कारकों से प्रभावित होकर बोली लगाता है। दोनों अर्थशास्त्रियों नें इन तीनों कारकों पर शोध कर बेहतर नीलामी के लिए एक सिद्धांत दिया है।

शांति 

World Food Program
Nobel Prize Winners of 2020 in Hindi

साल 2020 का शांति नोबेल पुरस्कार विश्व खाद्य कार्यक्रम को दिया गया है। भुखमरी को कम करने तथा संघर्ष प्रभावित क्षेत्रों में भुखमरी से लड़ने और शांति कायम करने के चलते यह पुरस्कार दिया गया है। बता दें की विश्व खाद्य कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र का एक कार्यक्रम है जिसकी शुरुआत विश्व में भुखमरी से लड़ने तथा संघर्ष प्रभावित क्षेत्रों में खाद्य सामग्री पहुँचानें के उद्देश्य से 1961 में की गई। इसका मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है।

साहित्य 

World Food Program
लुईस ग्लक

साहित्य के क्षेत्र में इस साल का नोबेल अमेरिकी लेखिका लुईस ग्लक को दिया गया है पुरस्कार समिति के अनुसार उनका साहित्य खूबसूरत होने के साथ व्यक्तिगत अस्तित्व को सार्वभौमिक बनाता है। नोबेल के अलावा उन्हें पुलित्ज़र पुरस्कार तथा नैशनल बुक अवॉर्ड भी मिल चुके हैं। इसके अतिरिक्त साल 2002-03 के मध्य ये अमेरिका में कवियों के लिए सबसे बड़ी पदवी (Poet Laureate of United States) या राष्ट्रकवि पद पर भी रहीं। लुइस का पहला संग्रह 1968 में प्रकाशित फर्स्टबोर्न था। उन्होंने बारह कविताओं के संग्रह एवं कुछ निबंध प्रकाशित किये हैं।

अन्य महत्वपूर्ण तथ्य 

  1. सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई हैं जिन्हें 17 वर्ष की उम्र में शांति के क्षेत्र में यह पुरस्कार प्राप्त हुआ।
  2. 2020 तक कुल 57 महिलाओं को विभिन्न क्षेत्रों में यह पुरस्कार दिया जा चुका है।
  3. कुल चार व्यक्तियों तथा दो संस्थाओं को 1 से अधिक बार नोबेल पुरस्कार दिए गए हैं।
    1. जे. बार्डीन (भौतिकी) 1956,72
    2. मेडम क्यूरी (भौतिकी) 1903, (रसायन) 1911
    3. एल पाउलीग (रसायन) 1954, (शांति) 1962
    4. एफ सेंगर (रसायन) 1958,80
    5. UNHCR (शांति) 1954,81
    6. ICRC (शांति) 1917,44,63

 

उम्मीद है दोस्तो आपको ये लेख (Nobel Prize Winners of 2020 – in Hindi) पसंद आया होगा टिप्पणी कर अपने सुझाव अवश्य दें। अगर आप भविष्य में ऐसे ही रोचक तथ्यों के बारे में पढ़ते रहना चाहते हैं तो हमें सोशियल मीडिया में फॉलो करें तथा हमारा न्यूज़लैटर सब्सक्राइब करें एवं इस लेख को सोशियल मीडिया मंचों पर अपने मित्रों, सम्बन्धियों के साथ साझा करना न भूलें।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

हमें फॉलो करें

728FansLike
39FollowersFollow
3FollowersFollow
23FollowersFollow
- Advertisement -
error: Content is protected !!