डीमैट खाता क्या होता है तथा ऑनलाइन डीमैट खाता कैसे खोलें? (How to Open a Demat Account)

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका जानकारी ज़ोन में जहाँ हम विज्ञान, प्रौद्योगिकी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय राजनीति, अर्थव्यवस्था, ऑनलाइन कमाई तथा यात्रा एवं पर्यटन जैसे अनेक क्षेत्रों से महत्वपूर्ण तथा रोचक जानकारी आप तक लेकर आते हैं। हम सभी को बैंकिंग सेवाओं का लाभ लेने के लिए एक बैंक खाते (Bank Account) की आवश्यकता होती है ताकि विशाल बैंकिंग नेटवर्क में हमारी एक निश्चित पहचान सुनिश्चित की जा सके।

बैंक खाते की भाँति किसी भी प्रकार की डिजिटल संपत्ति को सुरक्षित रखने के लिए हमें डिजिटल दुनियाँ में एक खाते (Account) की आवश्यकता होती है, ताकि डिजिटल दुनियाँ में हम किसी स्थान विशेष में अपनी संपत्तियों को सुरक्षित रख सकें। ऐसा ही एक खाता है डीमैट खाता (Demat Account), जिसके बारे में आज इस लेख में विस्तार से चर्चा करेंगे, जानेंगे इसका इस्तेमाल कहाँ किया जाता है तथा आप अपना डीमैट खाता ऑनलाइन माध्यम से किस प्रकार खोल सकते हैं?

डीमैट खाता क्या है?

शेयर बाज़ार में निवेश करने पर हम किसी कंपनी के एक छोटे से हिस्से के मालिक बन जाते हैं, शेयर बाज़ार के डिजिटलीकरण से पूर्व इस हिस्सेदारी के दस्तावेज भौतिक रूप में शेयरधारक को प्राप्त होते थे, किन्तु डिजिटलीकरण के पश्चात अब भौतिक दस्तावेजों की आवश्यकता समाप्त हो गई है।

वर्तमान में किसी भी निवेशक को शेयर खरीदने पर कंपनी के शेयर डिजिटल रूप में प्राप्त होते हैं और डिजिटल रूप में प्राप्त ये शेयर जिस खाते में सुरक्षित किए जाते हैं उसे ही डीमैट खाता कहा जाता है, यहाँ किसी निवेशक द्वारा खरीदे गए शेयर सुरक्षित रखे जाते हैं, जो उन शेयरों पर खाताधारक के स्वामित्व को संदर्भित करता है।

डीमैट खाता खोलने से पूर्व किन बातों का रखें ध्यान?

(1) आप डीमैट खाता ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन दोनों प्रकार से खोल सकते हैं। यहाँ हम ऑनलाइन डीमैट खाता खोलने के विभिन्न चरणों की चर्चा करेंगे और जानेंगे कि किन बातों का आपको ध्यान रखना होगा।

(2) अपने आवश्यक दस्तावेजों जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड, एक रद्द किया गया चेक, एक पासपोर्ट साइज फ़ोटो आदि को तैयार रखें।

(3) डीमैट खाता उपलब्ध कराने वाली विभिन्न कंपनियों में से किसी एक का चुनाव करें। भारत की सबसे अधिक ग्राहकों वाली कंपनी और सबसे कम सेवा शुल्क होने के कारण हम आपको सुझाव देंगे कि आप ज़ेरोधा मे अपना खाता खोलें। यहाँ हम ज़ेरोधा में खाता खोलने के विभिन्न चरणों की चर्चा करेंगे।

कैसे खोलें ज़ेरोधा में डीमैट खाता?

  • सबसे पहले ज़ेरोधा की वेबसाइट अपने ब्राउज़र में खोलें और Sign up पर क्लिक करें।
  • मोबाइल नम्बर डालें और OTP को दर्ज कर मोबाइल नम्बर सत्यापित कराएं।
  • अपना नाम और ई-मेल दर्ज करें।
  • पेन कार्ड नम्बर और जन्म तिथि दर्ज करें।
  • खाता खोलने के लिए शुल्क का भुगतान करें। यहाँ आपको खाते में दो विकल्प दिए जाते हैं, जिनके लिए आपको अलग अलग भुगतान करना होता है।
    • Equity market (जहाँ आप किसी कंपनी के शेयर खरीद अथवा बेच सकते हैं)
    • Commodity market ( जहाँ आप उत्पादों को खरीद या बेच सकते हैं जैसे सोना, चाँदी, विभिन्न अनाज़, तेल आदि)
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार इक्विटी, कॉमोडिटी या दोनों सुविधाएं ले सकते हैं। अपनी आवश्यकतानुसार विकल्पों का चयन करें और भुगतान करें।
  • भुगतान करने के बाद अपने डिजिलॉकर को ज़ेरोधा से कनेक्ट करें। अगर आपका खाता डिजिलॉकर में नहीं है तो एकाउंट बनाने के लिए यहाँ क्लिक करें।
  • अपनी बैंक डिटेल दर्ज करें।
  • IPV या इन पर्सन वेरिफिकेशन कराएं जहाँ आपको आपके कंप्यूटर या स्मार्टफोन पर दिखाए जाने वाले OTP को कागज़ में लिखकर अपना लाइव वेरिफिकेशन वेबकेम या स्मार्टफोन के फ्रंट कैमरे से करना होगा।
  • अब आपको आवश्यकता होगी आपके आवेदन फॉर्म पर आपके हस्ताक्षरों की जिसे डिजिटल सिग्नेचर या OTP के माध्यम से भी कर सकते हैं (यदि आपके आधार से आपका मोबाइल नम्बर लिंक है ) अन्यथा आप दस्तावेजों को प्रिंट करके हस्ताक्षर कर कंपनी को डाक द्वारा भेज सकते हैं।
  • अपने दस्तावेजों पेन कार्ड, बैंक स्टेटमेंट्स आदि को अपलोड करें
  • e-signature Equity पर क्लिक करें और फोन या ईमेल पर प्राप्त OTP दर्ज करें।
  • अपना आधार नम्बर डालें और Request OTP पर क्लिक कर OTP दर्ज करें।
  • इसी प्रकार यदि आप कमॉडिटी बाज़ार में भी निवेश करना चाहते हैं तो e-signature commodity पर क्लिक कर OTP दर्ज करें।

POA प्रिंट करें।

आपका आवेदन पूर्ण हो जाने पर डीमैट पावर ऑफ अटॉर्नी (POA) डाउनलोड करें और उसे प्रिंट तथा हस्ताक्षर करने के बाद कंपनी द्वारा बताए गए पते पर डाक द्वारा भेज दें। यहाँ आपके पास डिजिटल हस्ताक्षर का विकल्प नहीं है आप POA को केवल भौतिक रूप में ही भेज सकते हैं।

क्या है पीओए (POA)?

आपको बता दें आपके खरीदे गए शेयर डीमैट खाते में इलेक्ट्रॉनिक रूप में सुरक्षित रहते हैं। जब आप अपने खरीदे हुए शेयर बेचते हैं तो आपके ब्रोकर को आपके खाते से शेयर निकालने (Withdrawal) की आवश्यकता होती है। इसलिए आपको चाहिए कि, आप अपने ब्रोकर को यह अधिकार प्रदान करें कि, वह आपके बेचे जाने पर आपके खाते से शेयर निकाल ले। पावर ऑफ अटॉर्नी वही दस्तावेज है जिसमें आप अपने ब्रोकर को उक्त अधिकार प्रदान करते हैं।

ज़ेरोधा डीमैट एकाउंट शुल्क

  • खाता खोलने का शुल्कइक्विटी सेवा -200रु
  • कॉमोडिटी सेवा – 100रु
  • ब्रोकरेज शुल्कIntraday :- 20रु या 0.01% प्रति ऑर्डर जो भी कम हो।
  • Delivery :- NIL

कैसे करें शेयरों की खरीद बिक्री?

खाता बन जाने के बाद आपको ज़ेरोधा की तरफ़ से आपके खाते को लॉगिन करने के लिए User ID तथा Password उपलब्ध कराया जाएगा। इसके बाद आप ज़ेरोधा की वेबसाइट अथवा मोबाइल एप्लीकेशन पर अपना खाता लॉगिन करके शेयरों की खरीद बिक्री कर सकते हैं। यहाँ ध्यान देने योग्य बात यह है कि आप शेयरों को खाता बन जाने के तुरंत बाद ख़रीद तो सकते हैं किंतु बेचनें के लिए आपको अपने ब्रोकर को POA दस्तावेज अपने हस्ताक्षर करके भेजना अनिवार्य है, जिसके बारे में हमनें ऊपर समझाया है। POA आपके ब्रोकर के पास पहुँच जाने के बाद आप शेयरों को बेच सकते हैं।

महत्वपूर्ण शब्दावलियाँ

आइए अब उक्त लेख में प्रयोग हुई कुछ महत्वपूर्ण शब्दावलियों पर एक नजर डालते हैं

Digi Locker

ऊपर हमनें Digilocker से सत्यापन की चर्चा की थी जिन लोगों को नहीं पता Digilocker क्या है उनकी जानकारी के लिए बता दें कि, Digilocker भारत सरकार द्वारा बनाया गया एक एप्लिकेशन है। सरल शब्दों में कहें तो यह आपके दस्तावेजों का एक डिजिटल बैग है, जहाँ आप अपने सभी दस्तावेज डिजिटल रूप में रख सकते हैं तथा अपने दस्तावेजों का ऑनलाइन सत्यापन कराने की स्थिति में उपयोग कर सकते हैं।

Intraday Trading

जब आप एक ही दिन किसी कंपनी के शेयर खरीद तथा बेच देते हैं तो ऐसी ट्रेडिंग इंट्राडे ट्रेडिंग कहलाती है।

Delivery Trading

जब आप किसी कंपनी के शेयरों को खरीदने वाले दिन न बेचकर भविष्य में कभी भी बेचते हैं तो इस प्रकार की ट्रेडिंग डिलिवरी ट्रेडिंग कहलाती है। चूँकि आपके खरीदे गए शेयर 2 दिन बाद आपके डीमैट खाते (How to Open a Demat account in Hindi) में जमा किये जाते हैं अतः केवल डिलिवरी ट्रेडिंग की स्थिति में ही शेयर आपके खाते में जमा होते हैं। इंट्राडे ट्रेडिंग की स्थिति में वास्तव में शेयर आपके खाते में जमा नहीं होते।

यह भी पढ़ें : शेयर बाज़ार क्या है तथा यहाँ से कैसे पैसे कमा सकते हैं?

उम्मीद है दोस्तो आपको यह लेख (How to Open a Demat account in Hindi) पसंद आया होगा टिप्पणी कर अपने सुझाव अवश्य दें। अगर आप भविष्य में ऐसे ही जानकारी युक्त महत्वपूर्ण लेख पढ़ते रहना चाहते हैं तो हमें सोशियल मीडिया में फॉलो करें तथा हमारा न्यूज़लैटर सब्सक्राइब करें। इस लेख को सोशियल मीडिया मंचों पर अपने मित्रों, सम्बन्धियों के साथ साझा करना न भूलें।

Recent Articles

ADVERTISEMENT

Also Read This

error: Content is protected !!