Why is GATE assumed to be hard: क्यों GATE देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है?

यदि आपने इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट के बारे में सुना होगा, जिसे आमतौर पर GATE के रूप में जाना जाता है, तब आप यह भी भली-भाँति जानते होंगे कि, GATE देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है, जिसको क्रैक करना दूसरे शब्दों में सफलता हासिल करना कोई मामूली बात नहीं है। ऐसे में यह सवाल उठना भी बिल्कुल लाज़मी है कि, आखिर वे कौन से कारक हैं जो इस परीक्षा को इतना जटिल बनाते हैं।

इसी को ध्यान में रखते हुए आज हम चर्चा करने जा रहे हैं इस परीक्षा से जुड़े उन पहलुओं के बारे में, जो इसे बेहद जटिल और चुनौतीपूर्ण बनाते हैं। इससे हमें उन तरीकों को समझने या इजात करने में भी आसानी होगी, जिनका इस्तेमाल कर इस परीक्षा में उपयुक्त परिणाम या सफलता हासिल की जा सकती है। GATE परीक्षा की बेहतर रणनीति के लिहाज से यह एक ज्ञानवर्धक लेख होने जा रहा है अतः लेख में उल्लिखित प्रत्येक पहलू को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

विज्ञापन

GATE को कठिन परीक्षा बनाने वाले कारक

आइए अब ऐसे कुछ महत्वपूर्ण कारकों को एक-एक कर विस्तार से समझने का प्रयास करते हैं, जो GATE को उम्मीदवारों के लिए एक कड़ी चुनौती बनाते हैं। इस परीक्षा में सफलता हासिल करने के लिए प्रत्येक कारक को ध्यानपूर्वक पढ़ने के पश्चात ही उम्मीदवार अपनी कार्यक्षमता के अनुसार परीक्षा के लिए एक विशेष रणनीति बना सकते हैं।

चुनौतीपूर्ण संभावनाएं (Challenging Prospects)

(i) GATE एक ऐसी परीक्षा है, जो उम्मीदवारों को उनके भविष्य अथवा आजीविका के लिए बेहतरीन अवसर प्रदान करती है। हालांकि, इन अवसरों का लाभ ले पाना इतना आसान नहीं है, ऐसा करने के लिए किसी भी उम्मीदवार के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना बेहद आवश्यक हो जाता है।

विज्ञापन

(ii) हालांकि यह परीक्षा आपको अन्य इंजीनियरिंग परीक्षाओं की तुलना में आजीविका के लिहाज से अधिक अवसर प्रदान करती है लेकिन इसका मतलब यह बिल्कुल भी नहीं है कि GATE सभी लोगों के लिए एक विकल्प है। इस परीक्षा में सफलता पाने हेतु उम्मीदवार को चाहिए कि, वह अपने ज्ञान की शैक्षणिक और व्यावसायिक सीमाओं से परे जाकर प्रदर्शन करे।

विशाल पाठ्यक्रम (Vast Syllabus)

(i) GATE को देश की सबसे कठिन परीक्षाओं की सूची में शुमार करने में परीक्षा का विशाल पाठ्यक्रम, जटिल प्रश्नपत्र, गहन पेपर पैटर्न इत्यादि बहुत बड़ी भूमिका निभाते हैं। इसके बड़े पाठ्यक्रम को देखकर ही इसकी जटिलता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

(ii) GATE के पैटर्न को देखें तो यह इस प्रकार बनाया गया है जिससे कि, प्रत्येक अभ्यर्थी के एक इंजीनियरिंग स्टूडेंट के तौर पर ज्ञान का परीक्षण किया जा सके।

(iii) इस परीक्षा को आयोजित करने के पीछे का लक्ष्य विभिन्न स्नातक विषयों जैसे इंजीनियरिंग, विज्ञान, ह्यूमैनिटीज और सामाजिक विज्ञान में अभ्यर्थी की व्यापक समझ को जाँचना भी है।

समय सीमा (Tight Time Schedule)

(i) GATE को कठिन बनाने वाले कारकों में इसका बड़ा पाठ्यक्रम तथा मुश्किल प्रश्नपत्र तो है ही लेकिन जब इन कारकों के साथ समय की सीमा को भी शामिल कर दिया जाता है तो परीक्षा बेहद मुश्किल हो जाती है। ऐसी स्थिति में प्रश्नपत्र को केवल हल करना ही अहम नहीं रहता बल्कि समय सीमा के भीतर हल करना और भी महत्वपूर्ण हो जाता है।

विज्ञापन

(ii) समय का प्रबंधन (Time Management) गेट परीक्षा के सबसे महत्वपूर्ण और मुश्किल पहलुओं में से एक है। यदि आप पूछे गए प्रश्नों को आवंटित समय के भीतर हल करने में सक्षम नहीं हैं, तो परीक्षा उत्तीर्ण करने की आपकी संभावनाएं बहुत कम हो जाती हैं।

(iii) एक बेहतर समय प्रबंधन जहाँ परीक्षा में सफलता की संभावनाओं को बढ़ा देता है वहीं यह किसी उम्मीदवार में आत्म-अनुशासन, आत्म-संगठन और आत्म-प्रबंधन को भी दर्शाता है, इसके अलावा कंपनियां भी ऐसे उमीदवारों की तलाश में रहती हैं जो वर्तमान के इस अत्यधिक तेज वातावरण के अनुकूल कार्य करने की क्षमता रखता हो।

प्रतिस्पर्धा (Competition)

(i) GATE को ‘सफलता का शॉर्टकट’ माना जाता है, लिहाजा प्रत्येक उम्मीदवार इस अवसर का लाभ लेने की उम्मीद में परीक्षा में शामिल होता है और अंततः परीक्षा में प्रतिस्पर्धा बढ़ती है। GATE परीक्षा की जटिलता को बढ़ाने में यह एक महत्वपूर्ण कारक है।

(ii) यह परीक्षा देश भर से लाखों उम्मीदवारों द्वारा दी जाती है और परीक्षा में शामिल होने वाला प्रत्येक उम्मीदवार आपके लिए उपयुक्त रैंक या स्थान प्राप्त करने की चुनौती में वृद्धि ही करता है। आंकड़ों को देखें तो इस साल तकरीबन 7,11,542 उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल हुए।

(iii) परीक्षा में आपका स्थान जितना ऊपर होगा आपको, आपके मनचाहे संस्थान में दाखिला मिलने की संभावनाएं भी उतनी अधिक होंगी अतः परीक्षार्थियों की बढ़ती संख्या किसी भी उम्मीदवार पर मानसिक रूप से खासा दबाव बनाती है।

यहाँ हमनें देश की एक महत्वपूर्ण परीक्षा GATE के संबंध में कुछ ऐसे कारकों को समझा जो इस परीक्षा को कठिन बनाने में अपनी भूमिका निभाते हैं। GATE में एक आशाजनक स्कोर हेतु, किसी भी अभ्यर्थी के लिए अच्छी तरह से तैयार स्टडी प्लान की आवश्यकता होती है और अब आप मैकेनिकल के लिए भारत के सर्वश्रेष्ठ ऑनलाइन गेट कोचिंग के साथ GATE में एक बेहतरीन स्कोर सुनिश्चित कर सकते हैं।

Recent Articles

ADVERTISEMENT

Also Read This

error: Content is protected !!