क्या है क्लाउड कम्प्यूटिंग? | What is Cloud Computing in Hindi

साझा करें

नमस्कार दोस्तो स्वागत है आपका जानकारी ज़ोन में जहाँ हम विज्ञान, प्रौद्योगिकी, राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय राजनीति, अर्थव्यवस्था, ऑनलाइन कमाई तथा यात्रा एवं पर्यटन जैसे अनेक क्षेत्रों से महत्वपूर्ण तथा रोचक जानकारी आप तक लेकर आते हैं। आज हम चर्चा करेंगे क्लाउड कम्प्यूटिंग के बारे में जानेंगे यह क्या है एवं क्यों आवश्यक है आसान भाषा में तो अंत तक पढ़ते रहिये इस लेख को। (What is cloud computing in Hindi)

क्लाउड कम्प्यूटिंग (Cloud Computing)

कोई भी ऐसा कार्य जिसे करने के लिए कंप्यूटर की आवश्यकता होती है कम्प्यूटिंग कहलाता है। अब बात करते हैं क्लाउड कम्प्यूटिंग की यहाँ क्लाउड का अर्थ वर्चुअल से है अतः क्लाउड कम्प्यूटिंग कम्प्यूटर पर होने वाला कोई ऐसा कार्य (किसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करना, किसी सॉफ्टवेयर का निर्माण करना, डेटा स्टोर करना) है जिसे किसी वर्चुअल कंप्यूटर द्वारा किया जाए। दूसरे शब्दों में  कंप्यूटर द्वारा किया जाने वाला कोई ऐसा कार्य जिसे करने के लिए आपके कंप्यूटर के संसाधन जैसे CPU, RAM, ROM इत्यादि पर्याप्त नहीं हैं, ऐसी स्थिति में कुछ शुल्क देकर इंटरनेट के माध्यम से किसी अन्य कंप्यूटर के संसाधनों का उपयोग करना क्लॉउड कम्प्यूटिंग कहलाता है।

क्लॉउड कम्प्यूटिंग के उपयोग

यह एक सेवा है जिसेमें कुछ कम्पनियाँ लोगों को उनकी आवश्यकतानुसार कम्प्यूटिंग सेवाएं बेचती हैं। चाहे वह अपना डाटा स्टोर करना हो या कंप्यूटर द्वारा किया जाने वाला कोई अन्य कार्य, क्लॉउड कम्प्यूटिंग अपने निजी कम्प्यूटर में कोई कार्य करने के समान ही है किंतु इसके कुछ अन्य फायदे हैं जिनकी चर्चा हम लेख में आगे करेंगे।

क्लॉउड कम्प्यूटिंग सेवा के प्रकार

Cloud Computing सेवा मुख्यतः तीन प्रकार से उपलब्ध कराई जाती है।

  • Software as a Service (SaaS)
  • Platform as a Service (PaaS)
  • Infrastructure as a Service (IaaS)

SaaS

Software as a Service (SaaS) में क्लॉउड कम्प्यूटिंग सेवा प्रदाता अपने संसाधनों (हार्डवेयर) का उपयोग कर सॉफ्टवेयर होस्ट करता है तथा ग्राहकों को इंटरनेट की सहायता से उनका इस्तेमाल करने की सुविधा प्रदान करता है। आपको उस सॉफ्टवेयर को अपने कंप्यूटर में इंस्टॉल करने की आवश्यकता नहीं होती बल्कि किसी वेब ब्राउज़र या सेवा प्रदाता द्वारा दी गई किसी एप्लीकेशन की मदद से आप इसका उपयोग कर सकते हैं। इसका उपयोग अंतिम उपयोगकर्ता अर्थात सामान्य व्यक्ति द्वारा किया जाता है। इसके उदाहरण की बात करें तो इस श्रेणी में गूगल के सभी उत्पाद, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस जैसे उत्पाद शामिल हैं।

Saas

PaaS

Platform as a Service (PaaS) में सेवा प्रदाता लोगों को यह सुविधा देता है कि वे किसी प्रोग्राम को बना सकें तथा उनका परीक्षण कर सकें। इस प्लेटफ़ॉर्म का इस्तेमाल सामान्यतः डेवलपर्स द्वारा किया जाता है। गूगल एप इंजन, हेरोकू आदि इसके उदाहरण हैं।

Iaas

Infrastructure as a Service (IaaS) में सेवा प्रदाता द्वारा सभी कम्प्यूटिंग संसाधनों को आभासी रूप से उपलब्ध कराया जाता है। जिससे एक समय में कई लोग उसका इस्तेमाल कर सकें। इसके अंतर्गत आने वाली सेवाओं की बात करें तो वेब सर्वर उपलब्ध करना , डेटा का स्टोरेज आदि हैं। गूगल ड्राइव, जिओ क्लाउड, वेब होस्टिंग आदि इसके उदाहरण हैं।

iaas cloud computing - in Hindi
cloud computing in Hindi

क्या हैं क्लाउड कम्प्यूटिंग के फायदे?

आइये अब समझते हैं क्लाउड कम्प्यूटिंग के क्या फायदे हैं।

बिना संसाधनों के सेवा उपयोग करने की सुविधा

इसका सबसे बड़ा फायदा है कि आपको कोई कार्य करने के लिए उपयुक्त संसाधनों को खरीदने की आवश्यकता नहीं होती। बल्कि आप कुछ शुल्क देकर अपनी आवश्यकता के अनुसार संसाधनों को किराए में ले सकते हैं।

डेटा को कहीं भी एक्सेस करने की सुविधा

जहाँ आपके कंप्यूटर में रखा गया डेटा केवल आपके कंप्यूटर तक सीमित है वहीं क्लॉउड कम्प्यूटिंग का इस्तेमाल करने पर आपका डेटा दुनियाँभर में कहीं से भी एक्सेस किया जा सकता है। यह किसी कंपनी, संगठन या संस्था के लिए फायदेमंद होता है।

डेटा प्रबंधन की सुविधा

कर्मचारियों के डेटा का प्रबंधन करने के लिए किसी कंपनी को अधिक मात्रा में हार्डवेयर तथा लोगों की आवश्यकता होती है वहीं क्लाउड कम्प्यूटिंग के इस्तेमाल से कुछ मासिक किराया देकर कंपनी यह कार्य क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवा उपलब्ध कराने वाली कंपनी से करवा सकती है इस प्रकार कर्मचारियों के डेटा के प्रबंधन में होने वाला खर्च बच जाता है।

वेबसाइट होस्ट करने में

किसी वेबसाइट को होस्ट करने एवं उसके संचालन करने के लिए भी आपको कई संसाधनों जैसे सर्वर, उच्च गुणवत्ता वाले कम्प्यूटर आदि की आवश्यकता होती है। इसके अतिरिक्त आपको 24 घण्टे बिजली तथा अच्छे इंटरनेट कनेक्शन की ज़रूरत होगी इन सबकी कीमत किसी आम व्यक्ति के लिए वहन करना संभव नहीं है। ऐसे में किसी कंपनी से ये सभी सेवाएं किराए में लेना एक अच्छा विकल्प होता है।

डेटा की सुरक्षा

जहाँ आपके कंप्यूटर में रखा डेटा कम्प्यूटर के खराब हो जाने या चोरी हो जाने की दशा में खो सकता है वहीं क्लॉउड कम्प्यूटिंग में आपको आपके डेटा की सुरक्षा की भी गारंटी मिलती है। यहाँ आपका डेटा कई अलग अलग सर्वर्स में सुरक्षित रखा जाता है।

 

उम्मीद है दोस्तो आपको ये लेख (cloud computing in Hindi) पसंद आया होगा टिप्पणी कर अपने सुझाव अवश्य दें। अगर आप भविष्य में ऐसे ही रोचक तथ्यों के बारे में पढ़ते रहना चाहते हैं तो हमें सोशियल मीडिया में फॉलो करें तथा हमारा न्यूज़लैटर सब्सक्राइब करें। तथा इस लेख को सोशियल मीडिया मंचों पर अपने मित्रों, सम्बन्धियों के साथ साझा करना न भूलें।

0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
error: Content is protected !!