Mutual Fund SIP: सिर्फ 100 रुपये का निवेश बनाएगा आपको करोड़पति, जानें निवेश की रणनीति

हम सभी भविष्य की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अलग-अलग माध्यमों में निवेश करते हैं, जिनमें कुछ इनवेस्टमेंट प्लान, निवेशकों को अधिक रिटर्न देते हैं, किन्तु इनमें जोखिम भी अधिक शामिल होता है जैसे शेयर बाजार में निवेश वहीं कुछ माध्यमों में जोखिम बहुत कम या नहीं के बराबर होता है लेकिन यहाँ से मिलने वाला रिटर्न भी तुलनात्मक रूप से कम होता है उदाहरण के लिए फिक्स्ड डिपोजिट, सरकारी बॉन्ड इत्यादि।

निवेश करने का एक अन्य लोकप्रिय माध्यम म्यूचुअल फंड्स भी हैं, जहाँ जोखिम स्वयं शेयर बाजार में निवेश करने की तुलना में कम होता है लेकिन यहाँ से मिलने वाला रिटर्न फिक्स्ड डिपोजिट या किसी डेट इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करने के मुकाबले अधिक होता है। इसी को ध्यान में रखते हुए आज हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसे इनवेस्टमेंट प्लान की जहाँ आप 100 रुपये के निवेश से तकरीबन 1 करोड़ से अधिक का रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं

क्या होगी निवेश की रणनीति

म्यूचुअल फंड्स में निवेश करने के लिए आपके पास दो विकल्प मौजूद हैं इनमें एकमुश्त निवेश (Lump sum Investment) और SIP या सिस्टमैटिक इनवेस्टमेंट प्लान शामिल हैं। Mutual Fund SIP पिछले कुछ सालों में निवेश का एक लोकप्रिय विकल्प बना है, SIP के माध्यम से आप न्यूनतम ₹100 प्रतिमाह से निवेश शुरू कर सकते हैं हालाँकि न्यूनतम निवेश की राशि अलग-अलग फंड्स के लिए अलग-अलग हो सकती हैं।

जिस प्लान की हम चर्चा कर रहे हैं उसके अनुसार यदि आप प्रतिदिन ₹100 रुपये की बचत करते हैं तो आप महीने में ₹3000 का निवेश कर पाएंगे और इस तरह 30 सालों में आपका इन्वेस्टेड अमाउंट लगभग ₹10,80,000 होगा वहीं यदि इसमें कम से कम 12% का सालाना रिटर्न जोड़ा जाए तो 30 साल बाद आपके निवेश की कुल वैल्यू ₹1,05,89,741 हो जाएगी।

रिटर्न की गणना

गौरतलब है कि, म्यूचुअल फंड निवेश बाजार जोखिम के अधीन है लेकिन यदि भारतीय अर्थव्यवस्था और अधिकांश म्यूचुअल फंड्स के पास्ट परफ़ॉर्मेंस को देखें तो एक लंबी अवधि में बाजार में निवेश करना फायदे का सौदा ही है। कोविड काल में तबाह हुई देश तथा दुनियाँ की अर्थव्यवस्था अब धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है, जिसका असर बाजार में भी देखने को मिला है।

इसके अलावा भारत की अर्थव्यवस्था वर्तमान में विकास के दौर से गुजर रही है, अर्थव्यवस्था के प्राथमिक एवं द्वितीयक क्षेत्र समय के साथ मजबूत हो रहे हैं अतः इसमें कोई दो राय नहीं है कि, वर्तमान समय में बाजार में किया गया निवेश आने वाले 15 से 30 सालों में एक जबरजस्त रिटर्न निवेशकों को देगा।

विभिन्न म्यूचुअल फंड्स का पास्ट परफ़ॉर्मेंस

अलग-अलग म्यूचुअल फंड्स के पास्ट परफ़ोर्मेंस को देखें तो पिछले 3 सालों में ही कुछ म्यूचुअल फंड्स ने निवेशकों को 50% तक का बम्पर रिटर्न दिया है, कुछ बेहतरीन परफ़ॉर्म करने वाले फंड्स तथा उनके द्वारा 3 और 5 साल में निवेशकों को दिया गया रिटर्न नीचे सरिणी में दिखाया गया है

म्यूचुअल फंड स्कीम3 सालों का रिटर्न5 सालों का रिटर्न
एसबीआई कॉन्ट्रा फंड – ग्रोथ31%15%
क्वान्ट टैक्स प्लान – ग्रोथ ईएलएसएस40%22%
बैंक ऑफ इंडिया टैक्स एडवांटेज फंड – ग्रोथ ईएलएसएस26%15%
निप्पॉन इंडिया स्मॉल कैप फंड – ग्रोथ स्मॉल कैप37%18%
क्वान्ट स्मॉल कैप फंड – ग्रोथ स्मॉल कैप52%21%
PGIM इंडिया मिडकैप अपॉर्चुनिटी फंड – ग्रोथ मिड कैप41%19%

कैसे करें निवेश?

म्यूचुअल फंड्स में निवेश के लिए आप विभिन्न प्रकार की एप जैसे PhonePe, PayTm, Groww आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं, इनके अलावा यदि आप म्यूचुअल फंड्स के साथ-साथ शेयर बाजार में भी निवेश करना चाहते हैं तो जीरोधा (Zerodha) एक बेहतर विकल्प है, तकरीबन 6.5 मिलियन ग्राहकों के साथ यह देश की नंबर 1 ब्रोकरेज फर्म है।

Disclaimer: ऊपर बताया गया इनवेस्टमेंट प्लान, अर्थव्यवस्था के जानकारों तथा विभिन्न म्यूचुअल फंड्स के पास्ट परफ़ोर्मेंस को देखते हुए बताया गया है, निवेश करने से पहले किसी एक्सपर्ट की सलाह लें

Recent Articles

ADVERTISEMENT

Also Read This

error: Content is protected !!