How to improve credit Score: इन तरीकों से सुधारें अपना खराब क्रेडिट स्कोर, लोन लेने में नहीं आएगी कोई समस्या

किसी भी व्यवसाय की शुरुआत करने, उसे बढ़ाने या किसी भी प्रकार की आर्थिक गतिविधियों को संचालित करने के लिए पूँजी (Capital) की आवश्यकता होती है लेकिन कई परिस्थितियों में किसी व्यक्ति या कंपनी के पास आवश्यक पूँजी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं होती और इस स्थिति में ऋण (क्रेडिट) आवश्यक आर्थिक गतिविधियों को सुचारु रूप से चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

बड़े-बड़े व्यवसायों से लेकर एक सामान्य व्यक्ति तक सभी को किसी न किसी कार्य के लिए क्रेडिट की आवश्यकता होती है और किसी व्यक्ति या संस्थान को कितना ऋण देना सुरक्षित होगा इसके लिए बनाई गई व्यवस्था ही क्रेडिट स्कोर है। क्रेडिट स्कोर की गणना आपकी क्रेडिट हिस्ट्री का उपयोग करके की जाती है, जिसमें आपके समस्त भुगतनों का इतिहास, आपके द्वारा लिए गए ऋणों की संख्या, क्रेडिट कार्डों की संख्या जैसी जानकारी शामिल होती है। भारत में 4 प्रमुख क्रेडिट सूचना कंपनियां CIBIL, Experian, Equifax और Highmark हैं।

विज्ञापन

क्रेडिट स्कोर किसी व्यक्ति या संस्था को उसकी आर्थिक गतिविधियों के आधार पर दिया जाता है, यह सामान्यतः 300 से 900 के मध्य दिया जाता है हालांकि क्रेडिट स्कोर देने वाली कंपनी के अनुसार यह कुछ हद तक भिन्न हो सकता है। एक उच्च क्रेडिट स्कोर किसी व्यक्ति के अच्छे आर्थिक व्यवहार को प्रदर्शित करता है, जबकि एक सीमा से कम क्रेडिट स्कोर व्यक्ति के खराब वित्तीय व्यवहार को दिखाता है।

कैसे बढ़ाएं बिगड़ा क्रेडिट स्कोर?

एक उच्च क्रेडिट स्कोर आपके लोन या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करने की संभावनाओं को कई गुना तक बढ़ा देता है और एक कम स्कोर आपको ऋण मिलने की संभावनाओं को पूरी तरह से खत्म कर देता है। बैंक या कोई भी वित्तीय संस्थान कम क्रेडिट स्कोर वाले लोगों को लोन / क्रेडिट कार्ड देना पसंद नहीं करते क्योंकि किसी खराब आर्थिक प्रबंधन वाले व्यक्ति पर भरोसा करना मुश्किल होता है।

विज्ञापन

इसके साथ ही कई परिस्थितियों में यदि कम क्रेडिट स्कोर वाले व्यक्ति को ऋण मिल भी जाए तो उसे सामान्य से अधिक ब्याज चुकाना पड़ता है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर भी कम है तो घबराने की बात नहीं है आपको बस यहाँ बताए गए तरीकों का पालन करना होगा और एक समय के बाद आपका क्रेडिट स्कोर में सुधार हो जाएगा।

अपनी Credit Report चैक करें

अपने खराब क्रेडिट स्कोर को सुधारने के लिए सबसे पहले आवश्यक है कि, आप अपनी क्रेडिट रिपोर्ट चैक करें। ऐसा करने से आपको अपनी रिपोर्ट में उपलब्ध त्रुटियों को पहचानने में मदद मिलेगी। यदि आपको अपनी रिपोर्ट में ऐसी गलतियाँ मिलती हैं, जो आपके खराब क्रेडिट स्कोर का कारण हैं तो आपको इसे तुरंत ठीक करना चाहिए। चूंकि क्रेडिट रिपोर्ट में उल्लिखित जानकारी के आधार पर क्रेडिट स्कोर की गणना की जाती है, इसलिए आपके लिए यह सुनिश्चित करना बहुत महत्वपूर्ण है कि यह रिपोर्ट त्रुटियों से मुक्त है।

अपने बकाया बिलों का भुगतान करें

क्रेडिट स्कोर के खराब होने का सबसे पहला कारण लिए गए लोन की EMI या क्रेडिट कार्ड का बकाया समय पर ना चुकाना है। यदि आप अपने ऋण का भुगतान करने में विलंब करते हैं, तो आपका स्कोर कम होगा। अतः यदि आपने भी अपने किसी लोन / क्रेडिट कार्ड के बकाये का भुगतान नहीं किया है तो आपको अपने क्रेडिट स्कोर को सुधारने के लिए इसे तुरंत चुकाना होगा। 

इसके अतिरिक्त भविष्य में कभी यह स्थिति उत्पन्न ना हो इसके लिए अपने सभी ऋणों के लिए भुगतान अलर्ट या ऑटो डेबिट सुविधा को सक्रिय करना एक अच्छा विकल्प है। साथ ही, हमेशा अपने क्रेडिट कार्ड पर देय न्यूनतम राशि का भुगतान करने से बचें क्योंकि इससे आपके कार्ड की बकाया राशि में वृद्धि होती है। बकाया राशि कम रखने के लिए पूरे बिल का समय पर भुगतान करने का प्रयास करें। इसके अतिरक्त अगर आपने क्रेडिट कार्ड से कोई भी खरीदारी कड़ी है तो उसके पेमेंट की आखिरी तारीख यानी Due Date जरूर याद रखें।

क्रेडिट का इस्तेमाल

विभिन्न बैंकों, वित्तीय संस्थानों द्वारा मुहैया करवाए गए क्रेडिट कार्ड वर्तमान में छोटे कार्यों तथा अनलाइन भुगतान के लिए ऋण प्राप्त करने का एक बेहतरीन माध्यम बने हैं, लेकिन इनका गलत तरीके से इसका इस्तेमाल आपका क्रेडिट स्कोर बिगड़ सकता है। प्रत्येक क्रेडिट कार्ड की एक खर्च सीमा होती है अतः आपका क्रेडिट स्कोर हमेशा अच्छा बना रहे इसके लिए आवश्यक है कि, आप अपने क्रेडिट लिमिट का केवल 50% ही इस्तेमाल करें। क्रेडिट लिमिट का अधिक इस्तेमाल आपके खराब वित्तीय प्रबंधन तथा क्रेडिट पर आपकी निर्भरता को दर्शाता है।

विज्ञापन

एक बेहतर वित्तीय योजना बनाएं

एक बेहतर वित्तीय प्रबंधन अथवा योजना का इस्तेमाल करना सभी के लिए आवश्यक है और जब बात ऋण या क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल की हो तो तब एक योजनागत खर्च बेहद आवश्यक हो जाता है। ऐसा करके आप अपने क्रेडिट स्कोर को अच्छा कर सकते हैं अथवा अच्छा बनाए रख सकते हैं। बेहतर वित्तीय प्रबंधन के अंतर्गत नियोजित तरीके से ऋण लेना प्रमुख है हमेशा उसी स्थिति में ऋण लें, जबकि आप उसे चुकाने में सक्षम हों।

गौरतलब है कि, क्रेडिट स्कोर को एक या दो दिन में ठीक नहीं किया जा सकता है। इसके लिए समय, धैर्य और एक योजना की आवश्यकता होती है। एक बार जब आपका क्रेडिट स्कोर बेहतर हो जाता है तो कोशिश करें कि ऐसी कोई गलती न हो, जो इसे नुकसान पहुंचाए। चूंकि क्रेडिट स्कोर आपके द्वारा लिए गए ऋण तथा उसके भुगतान के व्यवहार को देखते हुए तैयार किया जाता है अतः यदि आपने कभी कोई ऋण नहीं लिया है या क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल नहीं किया है तो आपका क्रेडिट स्कोर जनरेट नहीं होगा।

जैसा कि, हमनें ऊपर बताया क्रेडिट स्कोर का इस्तेमाल किसी व्यक्ति के वित्तीय व्यवहार को समझने के लिए किया जाता है अतः जहाँ एक कम क्रेडिट स्कोर आपको ऋण मिलने की राह में बाधा बन सकता है वहीं क्रेडिट स्कोर के ना होने से भी वित्तीय संस्थानों को आपके आर्थिक प्रबंधन को समझने में कठिनाई होती है। अतः क्रेडिट स्कोर का होना और अच्छा होना दोनों आवश्यक हैं। आप अपना एक बेहतर क्रेडिट स्कोर बनाने हेतु नियमित या सुरक्षित क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करके इसे बना सकते हैं।

Recent Articles

ADVERTISEMENT

Also Read This

error: Content is protected !!