ड्रोन टेक्नोलॉजी से जुड़ी इस कंपनी का IPO लिस्टिंग के दिन दे सकता है 130% का मुनाफा, बोली लगाने वालों में मची होड़

Share Your Love

DroneAcharya Aerial Innovations Limited IPO: इस हफ्ते निवेशकों के पास एक से बढ़कर एक IPOs में निवेश करने के शानदार मौके हैं, इन्हीं में से एक IPO आज यानी 13 दिसंबर 2022 से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल चुका है। बता दें कि, पुणे आधारित ड्रोन टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनी Droneacharya Aerial Innovations Limited अपना ₹33.97 करोड़ रुपये का आईपीओ लेकर आ चुकी है। Droneacharya Aerial Innovations Limited IPO खासा चर्चाओं में हैं क्योंकि इसके आने से पहले ही ग्रे मार्केट में इसके जबरजस्त रुझान देखने को मिल रहे थे।

वर्तमान में इसके शेयर 70 रुपये के GMP (ग्रे मार्केट प्रीमियम) पर ट्रेड हो रहे हैं, जो इसके इश्यू प्राइज (₹54) से तकरीबन 129.63% ऊपर है। यह इस आईपीओ (Droneacharya Aerial Innovations Limited IPO) के लिए बेहद पॉजिटिव संकेत हैं। हालांकि एक निवेशक के तौर पर आपको केवल किसी IPO के ग्रे मार्केट प्रीमियम पर निर्भर नहीं रहना चाहिए, निवेश करने से पहले कंपनी के फाइनेंशियल्स तथा कारोबार के विषय में समझना भी आवश्यक है। आइए विस्तार में जानते हैं इस कंपनी के कारोबार और IPO से जुड़ी अन्य बातों को।

DroneAcharya Aerial Innovations Limited आईपीओ के बारे में

Droneacharya Aerial Innovations Limited ₹10 की फेस वैल्यू वाले कुल 6,290,000 शेयर इस आईपीओ के जरिए ऑफर कर रही है, शेयरों की ये संख्या कंपनी की 10.02% हिस्सेदारी को प्रदर्शित करते हैं। कंपनी ने प्रति शेयर ₹52 से ₹54 प्रति शेयर का इश्यू प्राइज तय किया है और कंपनी इस आईपीओ के जरिये तकरीबन ₹33.97 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बना रही है। Mr. Prateek Srivastava और Mrs. Nikita Srivastava कंपनी के प्रोमोटर्स हैं जिनके पास वर्तमान में कंपनी की कुल 38.23% हिस्सेदारी है और यह आईपीओ इश्यू होने के बाद 28.21% रह जाएगी।

विज्ञापन

कंपनी के 6,290,000 शेयरों में विभिन्न कैटेगरी के निवेशकों के लिए कुछ कोटा रिजर्व किया गया है उदाहरण के तौर पर Qualified Institutional Buyer (QIB) श्रेणी के निवेशकों के लिए अलॉटमेंट का 50%, रिटेल निवेशकों के लिए 35% तथा High Net-worth Individual (HNI) श्रेणी के निवेशकों के लिए 15% रिजर्व किया गया है।

Droneacharya Aerial Innovations Limited का लॉट साइज़ 2,000 शेयर का है, कोई भी रिटेल निवेशक अधिकतम और न्यूनतम केवल एक लॉट के लिए ही आवेदन कर सकता है, जबकि HNI श्रेणी के निवेशक कम से कम 2 लॉट के लिए आवेदन कर सकते हैं। 2,000 शेयरों की एक लॉट के लिए निवेशकों को ₹108,000 रुपयों का भुगतान करना होगा।

IPO की महत्वपूर्ण तिथियाँ

Droneacharya Aerial Innovations Limited आईपीओ से जुड़ी महत्वपूर्ण तिथियों की बात करें तो कंपनी का आईपीओ 13 दिसंबर 2022 मंगलवार से 15 दिसंबर 2022 गुरुवार तक सब्सक्रिप्शन के लिए खुला रहेगा, Droneacharya Aerial Innovations Limited कंपनी के शेयरों का अलॉटमेंट 20 दिसंबर 2022 को किया जाएगा वहीं कंपनी शेयर बाजार में आने वाली 23 दिसंबर को लिस्ट होगी।

विज्ञापन

कंपनी का कारोबार

Droneacharya Aerial Innovations Limited के आईपीओ में निवेश करने से पहले इसके कारोबार तथा फाइनेंशियल्स के बारे में जान लेना आवश्यक है। साल 2017 में शुरू हुई कंपनी Droneacharya Aerial Innovations ड्रोन टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनी है, कंपनी को DGCA (डायरेक्टरोट जनरल ऑफ सिविल एविएशन) से RPTO (रिमोट पायलट ट्रेनिंग ऑर्गेनाइजेशन) का लाइसेंस भी प्राप्त है।

कंपनी द्वारा उपलब्ध करवाई जाने वाली सेवाओं को देखें तो इनमें ड्रोन से संबंधित प्रशिक्षण जैसे ड्रोन पायलेट, एरियल सिनेमेटोग्राफी, ड्रोन के औद्योगिक अनुप्रयोग आदि शामिल हैं। इसके साथ ही कंपनी विभिन्न सरकारी एवं गैर-सरकारी संस्थाओं को अलग-अलग तरीके से सेवाएं उपलब्ध करवाती है जैसे हाई वोल्टेज पवार लाइन के लिए कॉरीडोर मैपिंग, हाइवेज कंस्ट्रक्शन, शहरों की प्लानिंग, प्राकृतिक तेल और गैस इंफ्रास्ट्रक्चर इत्यादि के लिए एरियल मैपिंग, कंस्ट्रक्शन मॉनिटरिंग, ऐसेट मैपिंग आदि।

कंपनी के वित्तीय आंकड़ों को देखें तो 31 मार्च 2021 से 31 मार्च 2022 के बीच कंपनी की ग्रोथ पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले शानदार रही है। इस दौरान कंपनी का कुल राजस्व 358.74 लाख रुपये रहा, वहीं कंपनी का शुद्ध मुनाफा तकरीबन 40 लाख के करीब था। इसके अलावा चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (31-Mar-22 से 30-Jun-22) में भी कंपनी ने अच्छा प्रदर्शन किया है इस दौरान कंपनी का कुल रेवेन्यू 308.96 लाख रुपये तथा नेट प्रॉफिट 72.06 लाख रुपये रहा है।

विज्ञापन

ग्रे मार्केट प्रीमियम (GMP)

Droneacharya Aerial Innovations Limited IPO अपने जबरजस्त ग्रे मार्केट प्रीमियम के चलते खासा सुर्खियों में है। जैसा कि, हमनें पूर्व में भी बताया ग्रे मार्केट में कंपनी के शेयर 129.63% के प्रीमियम पर ट्रेड हो रहे हैं। ग्रे मार्केट प्रीमियम (Grey Market Premium) को देखते हुए इस बात की बहुत संभावना है कि, यह आईपीओ लिस्टिंग के दिन निवेशकों के पैसे को दोगुने से भी अधिक करने वाला है।

आईपीओ के सब्सक्रिप्शन का आज आज पहला दिन है और दिन के आखिर तक आईपीओ रिटेल कैटेगरी में 35.08 गुना, NII (Non-Institutional Investors) कैटेगरी में 16.60 गुना वहीं QIB कैटेगरी में 0.41 गुना सब्सक्राइब किया जा चुका है। कंपनी के निवेशक शंकर शर्मा के मुताबिक ड्रोन टेक्नोलॉजी एक भविष्य आधारित तकनीक है और आने वाले दिनों में सर्विलांस, डिलीवरी जैसे कई क्षेत्रों में इसका इस्तेमाल प्रमुखता से किया जाएगा लिहाजा इस क्षेत्र में खासी ग्रोथ देखने को मिलेगी।

क्या आपको करना चाहिए अप्लाई?

इस आईपीओ में निवेश करने से पहले आपको कुछ बातों को ध्यान में रखना बेहद आवश्यक है, सबसे पहली ये कि Droneacharya Aerial Innovations Limited IPO एक SME (Small and Medium Enterprises) IPO है, जो Mainboard IPO की तुलना में कुछ हद तक भिन्न होता है। SME कंपनियां सामान्यतः छोटी कंपनियां (प्री-इश्यू पेड अप कैपिटल 1 करोड़ से 25 करोड़ के बीच) होती है, जो पब्लिक ऑफरिंग के माध्यम से पैसा इकट्ठा करती हैं।

विज्ञापन

दोनों प्रकार के IPOs में कई अंतर हैं लेकिन एक मुख्य अंतर जो आपको जानना चाहिए वह है SME IPOs का लॉट में ट्रेड होना। जहाँ आप शेयर बाजार में किसी कंपनी के लिस्ट होने पर कम से कम उसके 1 शेयर को खरीद या बेच सकते हैं वहीं SME कंपनी की स्थिति में आप कंपनी के शेयर स्टॉक मार्केट में लिस्ट होने के पश्चात भी केवल निर्धारित लॉट में ही खरीद या बेच सकते हैं। चूंकि SME आईपीओ में लॉट का साइज़ बड़ा होता है, जिसके चलते यहाँ मेनबोर्ड की तुलना में खरीदारों की कमी हो सकती है।

डिस्केलमर: निवेश करने से पहले अपने वित्तीय सलाहकार की राय लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!